Windows क्या है| विंडोज का उपयोग और इतिहास

अगर आप कंप्यूटर या लैपटॉप उपयोग करते है या लेने का सोच रहे है तो आप अवश्य ही windows के नाम से अवगत होंगे| लेकिन क्या आपको पता है आखिर Windows क्या है ( what is windows in Hindi) और windows का उपयोग ही ज्यादातर computers में क्यों होता है|

अगर आपको इनसब के बारें में नहीं पता तो घबराने की कोई बात नहीं आज इस पोस्ट में हमलोग जानेंगे की windows क्या है, windows का उपयोग और इसका इतिहास साथ-ही-साथ windows से जुड़ी सारे महत्वपुर्ण तथ्य को आसान भाषा में समझने की कोशिश करेंगे|

Windows क्या है (What is Windows in Hindi)

Windows in Hindi इसे Use करना बाकि ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में आसान होता है इसी वजह से यह काफी लोकप्रिय है|

Apple कंप्यूटर buyers को छोड़कर लगभग सभी user अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में windows OS ही उसे करते है| Apple user के लिए एप्पल ने खुद अपना ऑपरेटिंग सिस्टम MacOS develop किया है जो की काफी अच्छा है|

Operating System क्या है

आसान भाषा में बोला जाये तो ऑपरेटिंग सिस्टम एक प्रकार का software ही है जिसे high-level programming language का उसे करके बनाया गया है| OS ही computer और User के बीच एक interface बनाता है| जिसके कारण ही कंप्यूटर का उपयोग हो पाना संभव हो पाया है| बिना ऑपरेटिंग system के कंप्यूटर में कोई भी काम करना संभव नहीं है|

ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में हमने एक विस्तृत पोस्ट लिखा है जिसे पढ़कर आप OS के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है| पढने के लिए यहाँ क्लिक करें

Microsoft Windows का इतिहास

तो चलिए अब आपको बताते है Microsoft Windows का MS DOS Windows से Windows 10 तक का सफ़र-

  • MS DOS Windows
  • Windows 1.0
  • Windows 2.0
  • Windows 3.0
  • Windows NT
  • Windows 95
  • Windows 98
  • Windows Me
  • Windows 2000
  • Windows XP
  • Windows vista
  • Windows 7
  • Windows 8
  • Windows 10

1. MS DOS Windows

सर्वप्रथम 1981 ईस्वी में Microsoft ने अपनी पहली ऑपरेटिंग सिस्टम लांच की थी, जिसका नाम MS DOS Windows रखा गया था| जिसे सिर्फ IBM के personal कंप्यूटर के लिए बनाया गया था|इस OS में किसी भी प्रकार a interface नही था यह सिर्फ कमांड के मदद से ही चलाया जाता था|

MS DOS Windows का पूरा नाम Microsoft Disk Operating System Windows था|

2. Windows 1.0

MS DOS Windows के बाद 1985 ईस्वी में माइक्रोसॉफ्ट ने अपनी दूसरी और पहले से ज्यादा features बलि ऑपरेटिंग system को introduce किया जिसका नाम Windows 1.0 रखा गया| इसे कमांड के साथ-साथ पॉइंट करके भी इस्तेमाल किया जाने लगा|

3. Windows 2.0

1985 ईस्वी के बाद फिर 1987 में मिक्रोसोर्फ़ ने अपना एक और नया और पुराने के ज्यादा features वाली ऑपरेटिंग system को market में launch कर दिया था जिसे windows 2.0 का नाम दिया गया| इसमें बहुत सारे नए features को add किया गया जैसे keyboard के shortcut का इस्तेमाल होने लगा| उस समय यह OS काफी लोकप्रिय रहा|

4. Windows 3.0

1987 ईस्वी में माइक्रोसॉफ्ट का विंडोज़ 2.0 लोकप्रिय होने के बाद सन 1990 से 1994 के बीच इन्होंने अपना दो नया ऑपरेटिंग सिस्टम Introduce किया विंडोज़ 3.0 और विंडोज़ 3.1 जो उस समय काफी लोकप्रिय रहा इसमें बहुत सारे एडवांस फीचर को जोड़ा गया जैसे 16 Bit Color Support, ग्राफिक कार्ड सपोर्ट|

यह ऑपरेटिंग सिस्टम इंटेल 386 प्रोसेसर के लिए बनाया गया था साथ ही साथ इसमें माउस और कीबोर्ड का सपोर्ट मिलने लगा|

5. Windows NT

विंडोज 3.0 के पॉपुलर होने के बाद माइक्रोसॉफ्ट ने फिर 1993 से 1996 के बीच अपना नया इंटरफ़ेस वाला ऑपरेटिंग सिस्टम लांच किया जिसका नाम Windows NT रखा इसमें कुछ अच्छे फीचर को अपग्रेड कर दिया गया जैसे वह 16 Bit की जगह 32 Bit कलर को सपोर्ट करने लगा साथ-साथ मल्टीटास्किंग की सुविधा भी अच्छी कर दी गई|

विंडोज एनटी का पूरा नाम विंडोज न्यू टेक्नोलॉजी( Windows New Technology) होता है

6. Windows 95

सन 1995 ईस्वी में माइक्रोसॉफ्ट ने फिर से अपने ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड किया और एक नया ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज़ 95 को लांच किया| इस पे चलने के लिए कई सॉफ्टवेयर तैयार किए गए साथ ही इसमें Plugin Play का सपोर्ट भी मिलने लगा| इसके सभी सॉफ्टवेयर 32 बिट आर्किटेक्चर पे चलने लगा जो इसकी Highlight फीचर थी|

7. Windows 98

यह ऑपरेटिंग सिस्टम सन 1998 ईस्वी में माइक्रोसॉफ्ट द्वारा लांच किया गया था जो विंडोज 95 के अपग्रेडेड वर्जन के तौर पर देखा जाता है इसमें USB और DVD Player  का सपोर्ट मिलने लगा|  यह ऑपरेटिंग सिस्टम पिछले सभी ऑपरेटिंग सिस्टम से ज्यादा पॉपुलर हुआ और इसमें बहुत से एडवांस फीचर को भी एड किया गया था| इंटरनेट एक्सप्लोरर को भी पहली बार इसी ऑपरेटिंग सिस्टम में देखा गया था

8. Windows ME

विंडोज़ ME को माइक्रोसॉफ्ट ने ही 2000 में लांच किया था जिसमें कुछ ज्यादा बदलाव नहीं किया गया यह एक प्रकार से विंडोज़ 98 का अपडेट वर्जन था| इसमें DOS और BOOT के ऑप्शन को हटा दिया गया

9. Windows 2000

इसे विंडोज़ w2k भी कहा जाता है जिसके नाम से ही पता चलता है कि यह 2000 में लांच किया गया था शायद इसी वजह से इसका नाम  विंडोज़ 2000 रखा गया| यह ऑपरेटिंग सिस्टम में बहुत से नए और इंटरेस्टिंग जोड़ दिए गए जैसे इस ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से कंप्यूटर और प्रिंटर को एक साथ जोड़ा जा सकता था या माइक्रोसॉफ्ट का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम है जो लैपटॉप में भी चल सकता था साथ ही इस OS की मदद से कंप्यूटर को इंटरनेट से आसानी से कनेक्ट किया जाने लगा

10. Windows XP

फिर से माइक्रोसॉफ्ट ने एक नया और अपग्रेडेड ऑपरेटिंग सिस्टम Windows XP  को सन 2000 ईस्वी में Launch  कर दिया जिसे चलाना काफी आसान था|  इसे चलाने में आसान होने के कारण यह बहुत ज्यादा लोकप्रिय हो गया और बहुत ज्यादा संख्या में इसकी कॉपी भी बिकनी लगी| इस ऑपरेटिंग सिस्टम में पहली बार वायरलेस टेक्नोलॉजी  फीचर को एड किया गया जिसकी मदद से वायरलेस ब्लूटूथ Device और वाईफाई कनेक्टिविटी जैसी फीचर इस्तेमाल कर पाना संभव हो पाया

11. Windows vista

विंडोज़ एक्सपी के बहुत ज्यादा सफल होने के बाद माइक्रोसॉफ्ट ने 2006 में एक नया ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज़ Vista को वर्ल्ड मार्केट में लांच किया जिसमें विंडोज एक्सपी से ज्यादा और एडवांस फीचर थी| इसे चलाना विंडोज़ एक्सपी के तरह ही बहुत आसान था और इसमें हमें Error भी बहुत कम देखने को मिले| अगर आप विंडोज़ एक्सपी यूज किए हैं तो आपको पता होगा विंडोज़ एक्सपी मैं बहुत से Error आते थे लेकिन विंडोज़ विस्टा में इन सभी Error को खत्म किया गया जिससे हमें एक अच्छा इंटरफेस और वायरस Free, Error Free ऑपरेटिंग सिस्टम मिला|

12. Windows 7

और फिर 2009 ईस्वी में  माइक्रोसॉफ्ट ने अपना सबसे पॉपुलर और आसान इंटरफेस वाला ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 7 लॉन्च किया| लॉन्च होते ही यह ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत ज्यादा पॉपुलर हो गया और इसकी Original  कॉपी बहुत ज्यादा बिकने लगी| इसकी पॉपुलर होने का सबसे बड़ा कारण इसमें मौजूद एडवांस फीचर को माना जाता है|

13. Windows 8

विंडोज़ 7 ऑपरेटिंग सिस्टम  लगभग सभी देशों में काफी लोकप्रिय  रहा लेकिन जब 2012 में माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विंडोज़ 8 लॉन्च किया गया तो उसका नाम थोड़ा खराब होने लगा क्योंकि यह ऑपरेटिंग सिस्टम पसंद नहीं आया|

ऑपरेटिंग सिस्टम का इंटरफेस माइक्रोसॉफ्ट के बाकी सभी ऑपरेटिंग सिस्टम के इंटरफ़ेस से भिन्न  हां यह बिल्कुल एक नई डिज़ाइन में आया था लेकिन लोगों को यह डिज़ाइन बिल्कुल भी पसंद नहीं आया इसी वजह से विंडोज 8 बुरी तरह से लोगों के दिल में जगह बनाने में असमर्थ रहा|

14. Windows 10

जैसा कि हमने आपको बताया विंडोज़ 8 विश्व के लगभग सभी देशों में अपना नाम बनाने में असमर्थ रहा इसी असफलता को एक बार फिर से सफलता की ओर ले जाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट में 2015 में एक एडवांस टीचर वाला ऑपरेटिंग सिस्टम  विंडोज़ 10 को  लांच किया| विंडोज 10 बहुत से एडवांस फीचर को जोड़ दिया गया जिसकी वजह से इसके लॉन्च होते हैं यह बहुत पॉपुलर हो गया|

विंडोज 10 में बहुत सारे समस्याओं को खत्म करने की कोशिश की गई  जैसे-  अगर आप कंप्यूटर या लैपटॉप का उपयोग करते थे तो आपको मालूम होगा की माइक्रोसॉफ्ट का वेब ब्राउज़र इंटरनेट एक्सप्लोरर बहुत धीमी गति से चलता था जिससे बहुत से लोग इसे इस्तेमाल करने में परेशान हो जाते थे इसी वजह से लोग इस ब्राउज़र की जगह किसी दूसरे ब्राउज़र जैसे Google Crome और Opera आदि का उपयोग करने लगे| Microsoft ने इसी समस्याओं को अंत करने के लिए अपना एक एडवांस ब्राउज़र Microsoft Edge लॉन्च किया जो किसी भी अन्य  ब्राउज़र की तुलना में बहुत कम पावर को कंज्यूम करता है यह इसकी सबसे बड़ी खास बात है|

इसे भी पढ़े-

आज इस पोस्ट के माध्यम से हमने Windows क्या है (What is Windows in Hindi) और इसके उपयोग और इतिहास के बारे में विस्तार से बताने की कोशिश किया| आशा करता हूँ की अब आपका Windows के बारे में सारे संदेह खत्म हो गए होंगे|

अगर इस पोस्ट में हमने Windows से जूरी किसी भी तथ्य को गलत लिखा है तो हमने कमेंट में जरुर लिखे हम उसे अति शीघ्र अपडेट कर देंगे|

अगर आपको हमारा ये पोस्ट “Windows क्या है (What is Windows in Hindi)” अच्छा लगा हो तो हमरे कमेंट में जरुर बताये साथ ही साथ अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें|धन्यवाद|

Leave a Comment