कंप्यूटर क्या है – What is Computer in Hindi

What is Computer in Hindi: इस article में हमलोग की कंप्यूटर क्या है, और कंप्यूटर से Related सभी घटक, कंप्यूटर के Generation, कंप्यूटर के प्रकार तथा कंप्यूटर के भाग आदि को विस्तार से विवरण करेंगे|

कंप्यूटर क्या है – What is Computer

कंप्यूटर एक electronic data processing device है, जो बहुत ही सटीकता और विश्वसनीयता के साथ बड़ी मात्रा में डाटा को पढ़ और लिख, गणना और तुलना एवं स्टोर और प्रोसेस कर सकता है|

Computer का लैटिन शब्द Compute है, जिसे Greek शब्द Compute से लिया गया है|

कंप्यूटर क्या है इसकी परिभासा को हमने २ lines में बताया, आइये अब जानते है विस्तार से|

कंप्यूटर का पूरा नाम

C – Commonly

O – Operator

M – Machine

P – Particular

U – User

T – Trade

E – Education

R – Research

कंप्यूटर का जनक कौन है एवं उसका जीवनी

computer kya hai, कंप्यूटर क्या है, what is computer in hindi
कंप्यूटर क्या है, what is computer in hindi

कंप्यूटर का जनक Charles Babbage को कहा गया है| इनका जन्म 26 दिसम्बर 1791 में लन्दन (इंग्लैंड ) में हुआ था|

Charles Babbage ने 1822 ईस्वी में पहला कंप्यूटर बनाया जिसे ” Diffrence Engine ” का नाम दिया गया था| यह एक Simple Calculator से ज्यादा था| यह बहुत सारे Sets और Numbers को Compute करने में Capable था, और अपना उत्तर Hard copies में प्रदान करता था|

इसके बाद 1837 ईस्वी में Charles Babbage ने पहला General Mechanical Computer की संरचना करने का सोचा जो आगे चलकर Difference Engine का Successor होता और उसका नाम Analytical Engine सोचा था लेकिन यह सपना उनका पूरा नही हो पाया जब तक वह जीवित थे|

Charles Babbage का निधन 18 अक्टूबर 1871 ईस्वी में मार्लीबोन इंग्लैंड में हुआ था|

कंप्यूटर का जनरेशन (Generation of Computer)

1. First Generation of Computer ( कंप्यूटर का पहला पीढ़ी ) :

जिन कंप्यूटर का उपयोग या उत्पाद 1940 से 1955 के बीच किया गया था, उसे कंप्यूटर का पहला पीढ़ी कहा जाता है| प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर में Vacuume tube का उपयोग किया गया था| इसमें 18000 Vacuume tube का उपयोग होता था, जिसका वजन 30 टन होता था और यह 500 square feet में फैला हुआ था|

इस प्रकार के कंप्यूटर बहुत ही ज्यादा गर्म होते थे| ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Calculator) First Generation Computer का पहला शुरुआत था|इसका उदहारण है : IBM650 UNIVAC

2. Second Generation of Computer ( कंप्यूटर का दूसरी पीढ़ी ) :

1955 से 1965 के बीच जिस कंप्यूटर का उपयोग या उत्पादन हुआ उसे दूसरी पीढ़ी का कंप्यूटर कहा जाता है| इस प्रकार के कंप्यूटर में Vacuume Tube की जगह Transistors का उपयोग किया गया था|

जिससे इस कंप्यूटर की आकर पहला पीढ़ी की कंप्यूटर की अपेक्षा छोटी हो गयी परन्तु इस कंप्यूटर का Processing बहुत ही low था| इसका उदहारण है : IBM 1401, HONEYWELL 200, CDC 1604.

3. Third Generation of Computer ( कंप्यूटर का तीसरा पीढ़ी ) :

1965 से 1970 के बीच उपयोग या उत्पादन किये गये कंप्यूटर को तीसरी पीढ़ी का कंप्यूटर कहा जाता है| इस प्रकार के कंप्यूटर में Transistors की जगह I. C (Integrated Circuit) का उपयोग किया गया था|

इस जनरेशन के कंप्यूटर में L. S. I. (Large Scale Integration) Technology का उपयोग किया गया था| इसका उदहारण है : IBM System 360, NCR 395, Burrough B 6500.

4. Fourth Generation of Computer ( कंप्यूटर का चौथा पीढ़ी ) :

1970 के बाद से अभी तक हमलोग Fourth generation का कंप्यूटर उपयोग कर रहे है| इसमें Microprocessro Single Chip का उपयोग किया जाता है| इस प्रकार के कंप्यूटर में V. L. S. I. (Very Large Scale Integration) और U. L. S. I. (Ultra Large Scale Integration) Technology का उपयोग किया गया था| यह कंप्यूटर बहुत ही छोटा एवं बहुत ही कुशल होते हैं|

5. Fifth Generation of Computer ( कंप्यूटर का पांचवा पीढ़ी ) :

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर Artificial Intelligence Technology की होती है जो कि इंसान के तरह सोच सकते हैं एवं निर्णय ले सकते हैं |

कंप्यूटर के मूल भाग

  1. Keyboard
  2. Monitor / V. D. U ( Visual Display Unit )
  3. C. P. U ( Central Processing Unit )
  4. Mouse
  5. U. P. S ( Uninterrupted Power Supply )
  6. Speaker
  7. Printer

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं :

Technology के आधार पर कंप्यूटर तीन प्रकार के होते हैं :

  1. Digital Computer
  2. Analog Computer
  3. Hybrid Computer

क्षमता और कार्य के गति के आधार पर कंप्यूटर 4 प्रकार के होते हैं :

1. Super Computer- इसकी संरचना वैज्ञानिक अनुसंधान, मौसम, इंजीनियरिंग डिजाईन, दवा, माप एवं अग्रिम रक्षा अनुसंधान के लिए किया जाता है|

2. Maniform Computer- यह सुपर कंप्यूटर का Scale Down Version है| यह एक Multi-User और Multi-Tasking Computer है|

3. Mini Computer- यह Maniform Computer का Scale Down Version है| यह भी एक Multi-User और Multi-Tasking Computer है|

4. Micro Computer- यह Single Microprocessor Chip वाला कंप्यूटर है| जिसका एक ही उपयोग होता है| सभी प्रकार के P. C ( Personal Computer ) Micro Computer है|

कंप्यूटर के घटक (Components of Computer)

  • Hardware (हार्डवेयर)
  • Software (सॉफ्टवेर)

Hardware : यह कंप्यूटर का भौतिक घटक है| हम इसे देख और स्पर्श कर सकते है| इसके तीन प्रकार है:

  1. Input Device
  2. Output Device
  3. Processing Device

Software : यह कंप्यूटर के प्रभावी प्रचालन के लिए कार्यकर्म और प्रक्रियाओं का एक सेट है| Software बिना Hardware वैसे ही बेकार है जैसे डीजल के बिना कार| इसे स्पर्श नही किया जा सकता है परन्तु इसको Icon, Window के रूप में देख सकते है| इसके दो प्रकार होते है :

  1. System Software
  2. Application Software

Hardware के तीनों प्रकार का विवरण विस्तार से

1. Input Device – वैसे Devices जिनका उपयोग कंप्यूटर के अन्दर डाटा को Input करने के लिए किया जाता है| उदहारण : (A) Mouse, (B) Keyboard, (C) Scanner, (D) MICR, (E) Bar code Reader etc.

(A) Mouse – Mouse एक छोटा सा इनपुट डिवाइस है| इसका उपयोग Pointers या Cursor को move कर कोई भी object को select करने के लिए किया जाता है| माउस दो प्रकार के होते हैं : (a) PS2 Mouse (b) Serial Mouse

(B) Keyboard – keyboard एक इनपुट डिवाइस है| इसका उपयोग कंप्यूटर सिस्टम में डाटा को Inter, निर्देश और प्रोग्राम के लिए किया जाता है| यह एक टाइप राइटर मशीन के तरह होता है जो C.P.U से Connected रहता है और इसमें 106 या उससे अधिक Keys रहता है | यह दो प्रकार के होते हैं : (a) Simple Keyboard (b) Multimedia keyboard

(C) Scanner – स्कैनर का प्रयोग सामान्यत: फोटो, ग्राफ़िक्स इमेज, ड्राइंग, कार्य और text को डिजिटल में परिवर्तित करने के लिए किया जाता है|

(D) MICR ( Magnetic Ink Character Reader ) – इस डिवाइस का प्रयोग बैंक में चेक की जाँच के लिए किया जाता है, जो एक विशेष प्रकार की Magnetic Ink से बने होते हैं|

(E) BCR ( Bar Code Reader ) – यह डिवाइस किसी भी उत्पाद का बार कोड को रेसिर्द क्र उसका पूर्ण विवरण मॉनिटर स्क्रीन पर भेजता है|

2. Output Device – जिस डिवाइस के द्वारा हमे फाइनल रिजल्ट या इनफार्मेशन मिलती है उसे Output Device कहते हैं| इसका उदहारण है: (a) Monitor, (b) Printer etc.

(a) Monitor – मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है जिसका उपयोग डाटा को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है| मॉनिटर दो प्रकार के होते हैं : Monochrome Monitor, Colour Monitor

(b) Printer – प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है जिसका उपयोग डाटा को प्रिंट करने के लिए किया जाता हैं| प्रिंटर्स दो प्रकार के होते हैं: Impact Printer, Non-Impact Printer

3. Processing Device – वैसा उपकरण जो Raw Data को Information में convert करने के लिए ज़िम्मेदार है| उदहारण: C.P.U

Software के दो प्रकार का विवरण विस्तार से

1. System Software – इसको कंप्यूटर को चालू करने तथा सभी हार्डवेयर और सॉफ्टवेर को मैनेज करने का रेस्पोंसिबिलिटी होता है| यह तीन प्रकार के होते है: (A) Language Translation, (B) Operating System, (C)Utility Program.

(A) Language Translation – यह High Level Language ( H.L.L) को Machine Level Language में convert करता है| यह तीन प्रकार का होता है: (a) Interpreter, (b) Compiler, (c) Assembler.

(a) Interpreter – यह high level language को machine level language में convertकरता है|यह line by line convert करता है|

(b) Compiler – यह high level language को machine level language में convert करता है| यह एक बार में पुरे प्रोग्राम को translate करता है|

(c) Assembler- यह Assembly level language को machine level language में convert करता है|

(B) Operating System – यह अन्य सॉफ्टवेर के लिए मूल वातावरण बनाते हैं| सभी प्रोग्राम ऑपरेटिंग सिस्टम में चलते है| उदहारण : Windows 98, Windows XP, Windows Vista etc.

(C) Utility Program – यह सॉफ्टवेर निर्माण के दौरान ROM में Pre-Loaded रहता है| ये निर्माताओ द्वारा पूर्व-लिखित कार्यक्रम है और हार्डवेयर के साथ आपूर्ति करता है|

2. Application Software – जिसपर उपयोगकर्ता कार्य करते हैं उसे Application Software कहते हैं| इसका उदहारण : Ms Word, Ms Excel, Tally etc.

कंप्यूटर का उपयोग कहाँ-कहाँ होता है

अभी तक हम लोगों ने कंप्यूटर के विभिन्न घटक, भाग, प्रकार और कंप्यूटर क्या है या कंप्यूटर किसे कहते है का विवरण देखा| अब हम इस article को ख़तम करने से पहले कंप्यूटर का उपयोग कहाँ-कहाँ होता है उसको जानते है|

  1. Education
  2. Science Research
  3. Business Application
  4. Office Automation
  5. Banking
  6. Industrial Application
  7. Weather Forecasting
  8. Communications
  9. Medicines
  10. Road Traffic Control
  11. Ticket Reservation इत्यादि में इसका उपयोग किया जाता है|

यह भी पढ़े

मुझे पूर्ण विश्वास है कि आपको अब तक कंप्यूटर क्या है (what is computer in hindi) और कंप्यूटर के प्रकार के बारे में पूर्ण जानकारी मिल गई होगी|

अब अगर आपको कोई भी कंप्यूटर से Related कोई भी सवाल जैसे कंप्यूटर क्या है या कंप्यूटर किसे कहते है या फिर कंप्यूटर के प्रकार, घटक, भाग आदि के बारे में पूछता है तो आप उसे आसानी से बिना बिलम्ब से उत्तर दे पाओगे|

आशा करना हूँ की आपको यह पोस्ट कंप्यूटर क्या है (what is computer in hindi) में आपको कुछ सिखने को मिला | अगर आपको हमारी दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ share करना न भूले| धन्यवाद|