A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम का जीवनी हिंदी में

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- इस लेख में हम सब अब्दुल कलाम जी के जीवन परिचय, शिक्षा, वैज्ञानिक जीवन, भारत के राष्ट्रपति के रूप में उनका जीवन, उनके द्वारा लिखीं किताबें, उनको मिलने वाली पुरुस्कार, एवं उनके देहांत के बारे में जानेंगे|

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- जीवन परिचय

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi
A P J Abdul Kalam Biography In Hindi

डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम का पूरा नाम डॉ. अबुल पाकिर जैनुल्लाबिद्दीन अब्दुल कलाम था| इनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम तमिलनाडु में एक मुस्लिम परिवार में हुआ था| इनके पिता का नाम जैनुल्बिद्दीन था| जो पेशे से एक नाविक थे और वह मछुवारों को किराये पर नाव देने का काम करते थे| इनके पिता ज्यादा पढ़े-लिखें नही थे, परन्तु नियम के बहुत पक्के इंसान थे| अब्दुल कलाम के माता जी का नाम अशिम्मा थी जो एक गृहणी थीं|

अब्दुल कलाम जी का शुरु से ही रामेश्वरम के हिन्दू नेताओ तथा अध्यापकों के साथ स्नेहपूर्ण सम्बन्ध था| अब्दुल कलाम जी का पारिवारिक स्थिति बहुत ही कमजोर था क्योंकि इनके पिता ज्यादा एक गरीब इंसान थे और कलाम जी के बहुत सरे भाई बहन थे स्वयं कलाम जी 5 भाई 5 बहन के साथ एक जुड़ा हुआ परिवार के साथ रहते थे जिसमे उनके पिता के भाई सब भी आते थे|

सब एक साथ रहते थे जिससे परिवार की स्थिति दिन व् दिन कमजोर होते जा रही थीं| अब्दुल कलाम जी को बचपन में पढ़ाई जारी रखने के लिए अख़बार वितरण करने का कार्य भी करना परा था|

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- शिक्षा

स्कूल के दिनों में कलाम जी पढ़ाई में सामान्य ही थे, परंन्तु नई चीजों के बारे में सिखने के लिए हमेशा ललायित रहते थें| इन्होनें अपनी स्कूल की पढ़ाई रामनाथपुरम के स्च्वार्त्ज़ हाई स्कूल से की थीं|इसके पश्चात् 1954 ईस्वी में तिरुचिरापल्ली में स्थित सेंट जोसेफ्स कॉलेज से भौतिकी विज्ञान से स्नातक की पढ़ाई पूरी किया था|

उसके बाद 1955 में अब्दुल कलाम मद्रास चलें गए जहाँ से इन्होनें एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की शिक्षा ग्रहण किए|वर्ष 1960 ईस्वी में अब्दुल कलाम जी मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरा किया|

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- वैज्ञानिक जीवन

सन 1960 में पढ़ाई पूरी करने के बाद वे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के विकास प्रतिष्ठां में वैज्ञानिक पद में शामिल हुए थे| इन्होने अपने वैज्ञानिक जीवन की शुरुआत सेना के लिए एक छोटे से हेलीकाप्टर का डिजाईन करकें किया था|

  • 1962 में वे “भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन” में प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में भारत का पहला उपग्रह (एस. एल. वी-111 ) प्रेक्षेपास्त्र बनाने का श्रेय हासिल किया था|
  • 1980 ईस्वी के जुलाई माह में अब्दुल कलाम ने रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा के निकट स्थापित कर भारत को “अन्तर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष क्लब” का सदस्य बना दिया|
  • “इसरो लॉन्च व्हीकल प्रोग्राम” को शिखर तक लेन का श्रेय अब्दुल कलाम जी को ही प्रदान किया जाता है| कलाम ने स्वेदेशी लक्ष्य भेदी (गाइडेड मिसाईल्स ) का डिजाईन किया तथा अग्नि एवं पृथ्वी जैसी मिसाईल्स को स्वेदशी तकनीक से बनाया था|
  • डॉक्टर कलाम को अंतरिक्ष कार्यक्रमों के जनक डॉक्टर विक्रम साराभाई के साथ मिलकर राकेट प्रेक्षपण में कार्य करने का अवसर मिला था|
  • अब्दुल कलाम को 6 माह के लिए नासा में राकेट प्रेक्षपण से जुडी तकनीकों को जानने के लिए प्रशिक्षण के लिए भेजा गया था| अब्दुल कलाम जैसे ही नासा से लौटे वैसे ही 21 नवम्बर 1963 को भारत का “नाईक-अपाचे” नाम का पहला राकेट को अंतरिक्ष में छोड़ा गया था|
  • जुलाई 1992 से दिसम्बर 1999 तक रक्षा मंत्री के “विज्ञान सलाहकार” एवं “शोध और विकास” विभाग के पद पर कार्यरत थे|
  • डॉक्टर कलाम स्ट्रेटेजिक मिसाईल्स सिस्टम का उपयोग आग्नेयास्त्रों के रूप में किया इसी प्रकार पोखरण में दूसरी बार न्यूक्लियर विस्फोट भी परमाणु उर्जा के साथ मिलाकर किया| इस तरह से भारत ने परमाणु हथियार के निर्माण की अधिक क्षमता को प्राप्त करने में सफलता अर्जित किया|

उपयुक्त बिन्दुओं से हम कह सकते है की डॉक्टर कलाम जी भारत देश को परमाणु संपन्न देश बनाने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान दिए| जिसे हम सभी भारतवासी अपने जीवन में कभी भी भूल नही पाएंगे| कलाम साहब अपना संपूर्ण जीवन देश और देश की तरक्की को समर्पण कर दिए|

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- भारत के राष्ट्रपति के रूप में डॉ कलाम का जीवन

रक्षा वैज्ञानिक के तौर पर दिए गए इनके योगदान को देखते हुए एन. डी. ए. की गठबंधन सरकार ने इनकों 2002 में राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया| इन्होने अपने प्रतिद्वंदी लक्ष्मी सहगल को भरी वोटों से पराजित कर 25 जुलाई 2002 को भारत देश के 11 वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लिया|

  • डॉक्टर कलाम भारत देश के तीसरे ऐसे राष्ट्रपति थे जिन्हें राष्ट्रपति बनने से पहले भारतरत्न से नवाजा जा चुका था|
  • अब्दुल कलाम राष्ट्रपति भवन में रहने वालें पहले अविवाहित और वैज्ञानिक थे|
  • इनको जनता से बहुत लगाव था इसीलिए इन्हें प्यार से “पीपुल्स प्रेसिडेंट” कहा जाता है|
  • डॉ अब्दुल कलाम के अनुसार एक राष्ट्रपति के रूप में उनके द्वारा लिया गया सबसे कठिन निर्णय, लाभ के कार्यालय के बिल पर हस्ताक्षर करना था|
  • एक राष्ट्रपति के रूप में इनको आलोचित भी होना पड़ा था, जब डॉ कलाम संसद में 2001 के दिसम्बर में हुए हमले के 21 दोषियों में से 20 की दया याचिका को मंजूर किया जबकि अफज़ल गुरु की ही दया याचिका को ही बस ख़ारिज किया था|
  • डॉ कलाम 2007 में राष्ट्रपति के पद से सेवामुक्त हुए थे|

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- डॉ अब्दुल कलाम को मिलने वाले कुछ पुरस्कार एवं सम्मान की सूचि निम्न है

वर्षसम्मानसंगठन
2014डॉक्टर ऑफ साइंसएडिनबर्ग विश्वविद्यालय , ब्रिटेन
2012डॉक्टर ऑफ़ लॉ ( मानद )साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय
2011आईईईई मानद सदस्यताआईईईई
2010डॉक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंगवाटरलू विश्वविद्यालय
2009मानद डॉक्टरेटऑकलैंड विश्वविद्यालय
2009हूवर मेडलASME फाउंडेशन, संयुक्त राज्य अमेरिका
2009अंतर्राष्ट्रीय करमन वॉन विंग्स पुरस्कारकैलिफोर्निया प्रौद्योगिकी संस्थान , संयुक्त राज्य अमेरिका
2008डॉक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंगनानयांग प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय , सिंगापुर
2007चार्ल्स द्वितीय पदकरॉयल सोसाइटी , ब्रिटेन
2007साइंस की मानद डाक्टरेटवॉल्वर हैम्प्टन विश्वविद्यालय , ब्रिटेन
2000रामानुजन पुरस्कारअल्वर्स रिसर्च सैंटर, चेन्नई
1998वीर सावरकर पुरस्कारभारत सरकार
1997राष्ट्रीय एकता के लिए इंदिरा गांधी पुरस्कारभारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
1997भारत रत्नभारत सरकार
1994विशिष्ट फेलोइंस्टिट्यूट ऑफ़ डायरेक्टर्स (भारत)
1990पद्म विभूषणभारत सरकार
1981पद्म भूषणभारत सरकार
A P J Abdul Kalam Biography in Hindi

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- डॉ कलाम के द्वार लिखीं गई कुछ पुस्तकें निम्न है

  1. इंडिया 2020 – ए विशन फॉर दी न्यू मिलेनियम
  2. इग्नाइटेड माइंड
  3. विंग्स ऑफ़ फायर – ऑटोबायोग्राफी
  4. ए मेनिफिस्टो फॉर चेंज
  5. मिशन इंडिया
  6. इन्सापिरिंग थोट
  7. माय जर्नी
  8. यू आर बोर्न टू ब्लोसम
  9. दी लुमीनस स्पार्क
  10. एडवांटेज इंडिया
  11. रेईगनिटेड

A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- डॉ अब्दुल कलाम आजाद का देहांत

27 जुलाई 2015 को भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में अध्यापन कार्य के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा और हम सब के चहेते डॉ कलाम जी हम सब को छोर क्र परलोक को सिधार गए|

Read Also

Teacher’s Day in Hindi-शिक्षक-दिवस क्यों और कैसे मनाते हैं
बाल-दिवस (Children’s Day) के बारे में कुछ रोचक तथ्य

Note: A P J Abdul Kalam Biography in Hindi; आशा करता हूँ की आपको ये डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलम की जीवनी की ये पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी| अगर आपको डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलम के बारे में और अधिक जानकारी है या इस पोस्ट में कोई जानकारी गलत लिखी हुई हो तो आप हमसे Comment में लिख सकतेहै |हम इस पोस्ट “A P J Abdul Kalam Biography in Hindi” को Update करते रहेंगे| धन्यवाद |

3 thoughts on “A P J Abdul Kalam Biography In Hindi- डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम का जीवनी हिंदी में”

Leave a Comment